BMI का फुल फॉर्म क्या है जानिए हिन्दी में। BMI FULL FORM IN HINDI

BMI का फुल फॉर्म क्या है जानिए हिन्दी में। BMI FULL FORM IN HINDI: क्या आप जानते हे की BMI क्या होता है ,BMI का फूल फॉर्म क्या है , BMI का क्या उस होता है ,BMI किसे कहते है ,BMI का पूरा नाम और उसका हिंन्दी में क्या अर्थ होता है ,BMI क्यों जानना जरूरी  है ,BMI का अपने शरीर के हेल्थ से क्या कनेक्शन है ,तो दोस्तों आपके लिए BMI शव्द नया है ? तो आज BMI की पूरी जानकारी हिंदी में जानेगे। तो दोस्तों आज इस पोस्ट को पूरा पढ़िए और BMI का फुल फॉर्म क्या है जानिए हिन्दी में। 

जरूर पढ़े -अच्छी सेहत कैसे बनाये 2020 



BMI का फुल फॉर्म क्या है जानिए हिन्दी में। BMI FULL FORM IN HINDI
BMI का फुल फॉर्म क्या है जानिए हिन्दी में। BMI FULL FORM IN HINDI

    BMI FULL FORM IN HINDI

    BMI का फुल फॉर्म है "BODY MASS INDEX" और हिन्दी में "शरीर द्रव्यमान सूचकांक " लिखा जाता है। BMI को " एन्थोपोमैटीरिक सूचकांक " कहा जाता है। BMI बताता है की किसी व्यक्ति के शरीर का भार (WEIGHT) उसकी लम्बाई (HIGHT) के अनुपात में अच्छा है या नहीं  उसका मूल्य(Value) BMI
    बताता है। 

    BMI  शरीर के आकार का एक माप है ,BMI  के मूल्य से हम किसे व्यकितका वजन जनकी हाइट से बराबर है की नहीं। हम भारतीयों के लिए जनका BMI  का मूल्य 22. 1 से अधिक नहीं होना चाहिए और 18. 5  से कम भी नहीं होना चाहिए।  अगर आपक BMI  वेल्यू  18. 5 - 24 .9  के बीच में है तो आप का शरीर फ़ीट है और आप हेल्थी है अगर 18. 5 - 24 .9 के बीच में नहीं हे तो आपको ध्यान रखना चाहिए और अपना BMI वेल्यू को 18. 5 - 24 .9 के बीच में लाने की कोशिश करनी चाहिए। आपके मनमे इस जानकारी के बाद नीचे दिए गए सवालों उत्पन्न होंगे। 

    1 ) BMI को कैसे मापे ?

    2 ) BMI को मापने के लिए कौन सा साधन use  करे ?

    3 ) BMI का सही माप कौन सा है ?

    3 ) BMI का वेल्यू सही है तो लाभ 

    4 ) BMI का वेल्यू सही नहीं है तो हानि  

    5 ) BMI  पर रखे नजर 


    तो अब हम ऊपर दिए गए सवालो के बारे में detail में पूरी जानकारी लेंगे। 

    BMI को कैसे मापे ?BMI की गणना कैसे करे  ?

    BMI की गणना करने के लिए हमारे पास metertape और Weight Scale की जरूरत पड़ेगी। 

    BMI की गणना करने का सूत्र -

            बी एम आई = भार (किलोग्राम में) / ऊंचाई (मीटर में) 2 
         
             BMI =  weight (kilogram ) / height (meter )2 
       
    उदाहरण -  मगनभाई  का भार (weight ) 80 किलोग्राम है और एस व्यक्ति की उचाई 1.80 मीटर है तो इस  व्यक्ति का BMI का मूल्य गिनते है। 

        बी एम आई = भार (किलोग्राम में) / ऊंचाई (मीटर में) 2 
               
               = 80 किलोग्राम / (1. 80 मीटर)2  

                    =  80 / 3.24 
               
               = 24.69  
               

    BMI को मापने के लिए कौन सा साधन use  करे ?

    BMI की गणना करने के लिए हमारे पास metertape और Weight Scale की जरूरत पड़ेगी।और जो सभी के पास होता हे मोबाइल या केल्क्युलेटर की जरूरत पड़ेगी। 

    अब आप ईज़ी तरह अपना BMI का मूल्य निकाल सकते हो और अपना शरीर फेट है या नहीं वो जान सकते हो। 

    BMI का सही माप कौन सा है ?


    BMI का फुल फॉर्म क्या है जानिए हिन्दी में। BMI FULL FORM IN HINDI
    BMI का सही माप कौन सा है ?


                   BMI का वेल्यू               वर्गीकरण 


                   18.5 से नीचे           सामान्य से कम वजन 

                   18.5-24.9            सामान्य 

                   25-29.9              सामान्य से अधिक वजन 

                   30-34.9              मोटापा 

                   35-39.9             अति मोटापा 

                   40 से अधिक          अस्वस्थ मोटापा 


    उदाहरण -  मेहुलभाई  का भार (weight ) 87  किलोग्राम है और एस व्यक्ति की उचाई 1.82 मीटर है तो इस  व्यक्ति का BMI का मूल्य गिनते है। 

        BMI =  weight (kilogram ) / height (meter )2  
               
               = 87  किलोग्राम / (1. 82  मीटर)2  

                    =  87  / 3.31  
               
               = 26.28   

    तो  मेहुलभाई ( 25-29.9  सामान्य से अधिक वजन ) श्रेणी में आते है तो मेहुलभाई को अपना वजन कम करना चाहिए। 

    BMI का वेल्यू सही है तो लाभ 

    आपका BMI वेल्यू 18. 5 - 24 .9 के बीच मे है तो आप फ़ीट है जिससे कई लाभ आपको हो सकते है।  जैसे इससे मधुमेह (डायाबिटीस )नहीं होता ,अगर आप पहले से मधुमेह के रोगी है तो आपके शरीर में शकरा का वेल्यू  पहलेसे बेहतर होता है। और आपका शरीर फ़ीट भी रहेगा। 

    अगर आपको ह्दयरोग,जोड़ो के दर्द ,कोलेस्ट्रॉल जैसे रोगो है तो इसमें बहोत ज्यादा फायदा होगा। और आप की ऊर्जा भी बढ़ जाएगी इससे आप बढ़िया महसूस करोगे। 

    BMI का वेल्यू सही नहीं है तो हानि  

    आपका BMI वेल्यू 18. 5 - 24 .9 के बीच में नहीं है तो हेलसिकी विष्वविधालय की शोध के अनुसार शरीर का भार प्रजनन और इससे सबधित वयवहार पर असर करता है। पुरुष की शुक्राणु में भी कमी आ सकती है। 

    आमाशय में अधिक भोजन इकठ्ठा हो जाता है जिससे खोराक पाचन में समस्या आती है ,वो आदमी आलसी बना जाता है। और ऐसे आदमी को ज्यादा चलने में दिक्क्त आते है। जिससे कई हेल्थ की समस्या बढ़ जाती है।  


    BMI  पर रखे नजर 

    BMI पर नजर रख कर आप ही अपने वजन पर खुद ही नियत्रित कर सकते है। ओवरवेट  या मोटापा शिकार होने पर आप व्यायम करके और हेल्थी खोराक खाने से आप का वजन कंट्रोल में आ सकता है। और एक आप ही है जो अपना वजन कम करके हेल्थी बन सकते है। भारत में अमीर लोगोमे मोटापा की समस्या बहुत ज्यादा है। इसलिए जिसको ओवरवेट की समस्या है उनको अपना weight काम करना चाहिए वरना वहुत गभीर परिणाम आ सकता है। 

    जिसका BMI का वेल्यू 18.5 से काम है उनके लिए भी गभीर परिणाम आ सकते है। इसलिइ इस तरह के लोगो को पैष्टि आहार लेना चाहिए जैसे अपने खोराक में दूध ,प्रोटीन ,विटामीन, चरबी। खनिजसार जैसे पोषकतत्व जो आपके लिए सही है उसका उपयोग सही मात्रा में करना चाहिए। 

    में तो यही कहुगा की अपने डॉक्टर खुद ही बनीए क्योकि एक पुरानी कहावत है  "Health Is Wealth "
    क्योकि आपका स्वास्थ्य सही होगा तो ही आप खुश रह सकते हो और घूम फिर सकते हो। 

    निश्कर्ष 

    मुझे पूरी उम्मीद है की मेरा आर्टिकल BMI का फुल फॉर्म क्या है जानिए हिन्दी में। BMI FULL FORM IN HINDI आपको पसंद आएगा। मेरे पास BMI के बारे में जो जानकारी थी वो आपको देने में मेने पूरा प्रयास किया है। 

    अगर आपको इस आर्टिकल के मारे कुछ पूछना हो अगर आपको ये आर्टिकल पसद आयातो मुझे कमेंट जरूर करे जिससे में आपके लिए ऐसे नए आर्टिकल ला सकू। 

    आपको ये आर्टिकल पसंद आया तो अपने दोस्तों में उसे social media के प्लेटफॉर्म जैसे facebook , Twitter ,टेलीग्राम पर शेयर करे। जय हिन्द जय भारत। 

    0 Comments: